जयपुर । चौमू थाने में ठगी का एक मुकदमा दर्ज हुआ है । पीड़ित सुरेंद्र जांगिड़ ने चौमू थानाधिकारी से मिलकर बताया कि उसका ग्राम जोता तहसील आमेर जिला जयपुर में कुणाल इंटरप्राइजेज के नाम से फर्नीचर का काम है। यहां पर दो-चार कारीगर को साथ मिलकर वे फर्नीचर के आइटम बनाने का काम करता है। सुरेंद्र जांगिड़ ने बताया कि फर्नीचर के काम में सहयोग के लिए धन्नाराम उर्फ दिनेश पुत्र चौथमल जांगिड़ निवासी नाका की ढाणी ग्राम सुलियावास तहसील दांतारामगढ़ जिला सीकर को 7 महीने पहले काम पर रखा था। आरोपी धन्नाराम उर्फ दिनेश फर्नीचर और लोहे के पोर्टेबल कंटेनर तैयार करने में मदद करता था और समय नहीं होने पर कच्चा माल भी उससे मंगवा लेता था। इस प्रकार दिनेश पर अच्छा भरोसा हो गया। आरोपी ने पहले मेरा विश्वास जीता। उक्त समय मुझे यूनिक यूएसपीसी इंदिरा एलएलपी कंपनी पुणे से एक कंटेनर का आर्डर प्राप्त था। जिसका कंपनी ने मुझे एडवांस में पेमेंट भी कर दिया था। अभियुक्त धनाराम उर्फ दिनेश ने कहा कि मैंने नवलगढ़ में कंटेनर देख लिया है आप मुझे रुपए भेज दो तो मैं कंटेनर को लेकर आप आपकी कंपनी की जम्मू साइड पर भेज देता हूं। क्योंकि आरोपी 7 महीने से मेरी फार्म पर काम कर रहा था ,ऐसे में मुझे उस पर भरोसा भी था, इसीलिए मैंने अभियुक्त धनाराम उर्फ दिनेश को 5,66000 फोन पे वह बैंक से एक्सिस बैंक की शाखा खाटू श्याम जी में बैंक खाता संख्या 9220 100 278 67523 पर 20 दिसंबर 2022 से 2 जनवरी 2023 तक ट्रांसफर कर दिए।

जिस पर मैने अभियुकत धन्नाराम उर्फ दिनेश को कुल राशि 5,66,000 रुपये अक्षरे पांच लाख छियासठ हजार रुपये फोन पे व बैंक से अभियुकृत के एकृ‌क्सिस बैंक शाखा खाटूश्यामी में सुस्थित बैंक खाता संख्या 922010027867523 पर कर दिये है। मैं पैसे देकर निश्चित था की कंटेनर साइड पर पहुंच गया होगा लेकिन कंटेनर साइट पर नहीं पहुंचा और जब मुझे कम्पनी द्वारा फोन आने पर मैने अभियुक्त को कन्टेनर कम्पनी की साईड पर भिजवाने हेतु फोन किया तो उसने कन्टेनर तैयार होने में समय लगने की बात कही। आरोपी 22 जनवरी 2023 को फोन पर कहां की कंटेनर तैयार होने में समय लगेगा कंटेनर तैयार होते ही कंपनी में भिजवा दिया जाएगा वह लगातार इस तरह के आश्वासन देता रहा गाड़ी के नंबर भी भेजें और कहां की मैं उक्त गाड़ी में कंटेनर कंपनी की साइट पर रवाना कर दिया है । एवं मुझे आरोपी ने गाड़ी के नंबर भी भेजें इस पर भरोसा करके मैंने बिल व चालान उसे व्हाट्सएप कर दिए । मेंशन हो गया कि आरोपी ने कंटेनर गाड़ी में रखकर साइट पर भिजवा दिए लेकिन जब साइट पर कोई कंटेनर नहीं पहुंचा तब मैं ने आरोपी को फोन किया तब से लेकर आज तक आरोपी मेरा फोन नहीं उठा रहा है घर से फरार चल रहा है जब गांव में जाकर उसके बारे में पता किया तो पता लगा कि वह इस तरह की ठगी पहले भी कर चुका है गुजरात और अन्य स्थानों पर उसके खिलाफ कई तरीके मुकदमा दर्ज हैं शेखावाटी इलाके में भी वह कई लोगों के साथ इस तरह की धोखाधड़ी कर चुका है जाहिर सी बात है कि वह मेरे से कई भोले वाले लोगों को इस तरह का चूना लगा रहा है आरोपी को गिरफ्तार किया जाए पीड़ित को रिपोर्ट दर्ज करें 7 महीने बीत चुके हैं लेकिन अभी तक पुलिस में किसी तरह के कार्रवाई नहीं की है ऐसे में अपठित में डीसीपी अमित कुमार को शिकायत देकर आरोपी को गिरफ्तार कर पैसे दिलाने की मांग की है खास बात है कि पीडीसी रिपोर्ट के बाद पुलिस ने आरोपी को ढूंढने का बिल्कुल भी प्रयास नहीं किया जबकि बताया जा रहा है कि आरोपी शेखावाटी इलाके में ही दर्जनों लोगों को इस तरह का छगी का पात्र बना चुक और अन्य लोगों ने भी शेखावाटी में उसके खिलाफ मुकदमे दर्ज कराए हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.